Table Fan, Ceiling Fan, Exhaust fan ka kya kaam hota hai

Table Fan, Ceiling Fan, Exhaust fan ka kya kaam hota hai In Hindi Information

www.Encip.org

दोस्तों आज हम पंखे के बारे में बताने जा रहे है पंखा एक ऐसा उपकरण है जिसके माध्यम से मनुष्य गर्मी के मोसम में हवा लेता है गर्मी के मोसम में इसकी काफी डिमांड रहेती है पंखे की बात करे तो प्राचीन समय में
हाथो से हम गर्मी से राहत लेने के लिए हवा लेते थे समय बीतने के साथ वैज्ञानिको ने पंखे का अविष्कार किया और आज के ज़माने में हम सभी पंखे का उपयोग गर्मी के मोसम में करते है पंखा विद्युत चालक है जो की विद्युत के माध्यम से चलता है
पंखे तो काफी प्रकार के आते है पंखे के अन्दर तीन से चार पंखुड़िया लगी रहेती है जब वह पंखा विद्युत के माध्यम से चलता है तब वह पंखुड़िया तेज घूमने लगती है और फिर अधिक मात्रा में हवा हमें मिलती है
क्या आपने कभी गौर किया है कि हमारे घरों की छतों में जो सीलिंग फैन लगे होते हैं उनके केवल तीन ब्लेड ही क्यों होते हैं, जबकि कंपनियां चार ब्लेड वाले भी सीलिंग फैन बनाती है.

यही नहीं, जब हम किसी दुकान पर छत वाला पंखा खरीदने जाते हैं तो दुकानदार भी सबसे पहले हमें तीन ब्लेड वाला पंखा ही दिखाता है. जब तक हम डिंमाड न करे तब तक वह हमें चार ब्लेड वाला पंखा नहीं दिखाता है.

क्या आपने कभी सोचा है कि पंखों में लगे ब्लेड्स की संख्या कम या ज्यादा क्यों होती है. जबकि बाजार में चार ब्लेड वाला पंखा भी मौजूद है। हम उसको क्यों नहीं लगाते, जबकि वह कम शोर करने के साथ हिलता डुलता भी कम है. पंखे का इस्तेमाल सिर्फ हवा लेने के लिए किया जाता है. चूंकि 3 ब्लेड वाला पंखा हल्का होता है और तेज चलता है इसलिए 3 ब्लेड वाला पंखा ज्यादा इस्तेमाल होता है.

Fan Ka Avishkar Kisne Kiya

विद्युत से चलने वाले पंखे का आविष्कार वर्ष 1882 में “शूलर एस व्हीलर” ने किया था। वो एक अमेरिकी इंजीनियर और वैज्ञानिक थे। शूलर का जन्म 17 मई, 1860 को न्यूयॉर्क में हुआ था। उनके पिता का नाम जेम्स एडविन था जो कि न्यूयॉर्क शहर के जाने माने वकील थे। शूलर ने महान आविष्कारक थॉमस अल्वा एडिसन की वर्कशॉप में भी बतौर सहायक इंजीनियर कार्य किया था।

शूलर के आविष्कार के कुछ ही वर्ष बाद फिलिप डैहल ने सीलिंग फैन का आविष्कार किया था। उन्होंने ब्लेड्स को मोटर पर ही लगा दिया और छत के पंखे का आविष्कार किया। फिलिप भी थॉमस अल्वा एडिसन की वर्कशॉप में कार्य करते थे।

Table Fan In Hindi Information

Table Fan

यह सिर्फ कुर्सी या टेबल पर रख कर ही चला सकते है जिनका व्यास या फैलाव सीमित या कम होता हैं| यह पंखा छोटे होने के कारण कम हवा फेकता है हालांकि, ‘रोटेटिंग’ या ‘स्विंग’ विकल्पो से वह अपना हवा संचालन के आधार को बढ़ा सकते हैं| परन्तु इसके कारण  विभिन्न दिशाओं में रुक-रुक कर हवा का संचालन भी होता है, जो कुछ परेशानी अवश्य पैदा करता हैं। वे आम तौर पर कमरे में एक कोने या कमरे के किसी एक विशेष स्थान में रखे जातें है| परन्तु, कमरा यदि बड़ा हो, तो सभी जगहों तक हवा नहीं पहुँच पाती हैं। वे छोटे क्षेत्रों में पर्याप्त ‘ऐरफ्लो’ (हवा का संचालन) या कमरे के किसी एक विशिष्ट भाग में  पर्याप्त ऐरफ्लो बनाने के लिए अच्छे माने जातें हैं।

Ceiling Fan In Hindi Information

Ceiling Fan

सबसे ज्यादा सीलिंग फैन का आज के समय में काफी उपयोग किया जाता है ज्यादा तर हर घर में आपको एक या दो सीलिंग फैन या इससे ज्यादा भी सीलिंग फैन देखने को मिल जायेंगे किसी कमरे की छत के नीचे हुक आदि में लटका कर उपयोग किए जाने वाले पंखे को सीलिंग फैन कहते है सीलिंग फैन का साइज ब्लेड की लंबाई द्वारा बनाए गए व्यास से लिया जाता है तथा इनका साइज अलग अलग होता है
सीलिंग फैन के विद्युत विभाग अलग-अलग होते है. आज के समय मे सीलिंग फैन काफी देखने को मिल जायेंगे यह छोटी से बड़ी मार्किट मे आसानी से मिल जाते हैं।

(1) स्टेटर – पर दो प्रकार की वाइंडिंग की जाती है एक स्टार्टिंग वाइंडिंग तथा दूसरी रनिंग वाइंडिंग स्टेटर एक सॉफ्ट, साकिट, पाइप, राइड से जुड़े स्थिर भाग होता है

(2) रोटर – सीलिंग फैन का रोटर स्क्वेरल केज इंडक्शन मोटर के रोटर की तरह होता है जो कि स्टेटर के चारों ओर घूमता है इस प्रकार ही फैन ब्लेड फिट किए जाते हैं

(3) कैपेसिटर – सिंगल फेज मोटर को स्वचालित बनाने के लिए कैपिसिटर का इस्तेमाल आवश्यक होता है इसलिए सीलिंग फैन की स्टार्टिंग के साइज में 2 या 2.5 माइक्रोफैरड का कैपिसिटर लगाया जाता है

(4) रैगुलेटर – पंखे की स्पीड को कंट्रोल करने के लिए रेगुलेटर का उपयोग किया जाता है. रेगुलेटर भी मार्किट में आसानी से मिल जाते है रेगुलेटर भी कई तरह के मिल जाते है वो आप के उपर है अप केसा रेगुलेटर लेना है रेगुलेटर इस्तेमाल करने का एक और भी फायदा होता है कि इससे हम अपने बिजली की भी बचत कर सकते हैं अगर हमें पंखा को तेज चलाने की जरूरत नहीं है तो हम उसे कम स्पीड पर चला कर बिजली की बचत भी कर सकते हैं. और आज मार्केट में आपको रिमोट से स्पीड कंट्रोल करने वाले पंखे भी देखने को मिल जाएंगे जिसे आप सिर्फ बैठे-बैठे रिमोट की मदद से भी उसकी स्पीड को कम या ज्यादा कर सकते हैं.

Exhaust fan ka kya kaam hota hai

Exhaust fan

एग्जॉस्ट फैन (Exhaust fan) सीलिंग फैन का कॉम्पैक्ट वर्जन है। इसे किचन या कई भी लगा सकते है इसे वेंटिलेटर के साथ इंस्टॉल किया जाता है। एग्जॉस्ट फैन दीवारों में फिट किया जाता है जब इसके ब्लेड घुमते हैं, तो फिर किचन के अंदर के वाष्प और धुएं बाहर की तरफ निकलने लगते हैं, और जिससे वह ठंडी हवा भरने लगती है जिससे अंदर का मोहल काफी सही हो जाता है.

Kya Kitchen Chimney and Exhaust fan dono lagwa sakte h ?

Kitchen Chimney

किचन की साइज छोटी है और आप बार-बार खाना बनाने में दिक्कत होती है, तो फिर एग्जॉस्ट फैन आपके लिए अच्छा विकल्प हो सकता है। अगर आपका किचन मॉडर्न और साइज में भी बड़ा है, तो फिर चिमनी खरीद सकते हैं। चिमनी कई साइज में आती हैं जबकि एग्जॉस्ट फैन दीवारों में फिट किया जाता है Kitchen Chimney आमतौर पर गैस स्टोव से कुछ ऊंचाई पर इंस्टॉल किए जाते हैं। किचन चिमनी गैस स्टोव के बिल्कुल ऊपर इंस्टॉल होता है, एग्जॉस्ट फैन का काम अंदर के वाष्प और धुएं बाहर की तरफ निकालता है और जिससे वह अंदर ठंडी हवा भरने लगती है चिमनी एक वेंट के माध्यम से किचन से सभी धुएं और गंध को हटाता हैं। 

Home Page – Encip.org

Leave a Comment